Mon. Aug 8th, 2022
ये भी क्या ज़िन्दगी है
Spread the love

बिक्री के बोझ से बीमार एक सेल्समेन से उसकी पत्नी ने कहा, ” इस बार जानवरों के डॉक्टर को दिखाओ तो ही ठीक होगे।”

सेल्समेन: क्यों?

पत्नी: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो।

लोमड़ी की तरह इधर उधर से आर्डर बटोरते हो।

गधे की तरह दिन भर टारगेट पूरे करते हो।

घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भौंकते हो, शेर की तरह मुझे खाने को पड़ते हो, और फिर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर तुम्हे क्या ख़ाक ठीक कर पायेगा।